हमें देखते ही ………………

हमें देखते ही वो,
अपनी राह बदल लेते हैं,
ऐसी भी क्या,
खता हुई हमसे,
कि वो अपनी अदा,
बदल देते हैं,
यूं तो हुई नहीं,
कोई गलती मुझसे,
फिर भी जाने क्यों वो,
वफा बदल लेते हैं,
हमें देखते ही …………………..
पहले मोहब्बत थी इतनी कि,
मैं हर मर्ज़ में,
बनता था शफा उनकी,
पर अब न जाने क्यों,
वो अपनी दवा बदल देते हैं,
हमें देखते ही …………………..
हम तो चले जा,
रहे थे तन्हा,
जिन्दगी के सफर में,
वो आई जिन्दगी में,
और जिन्दगी का,
रुख ही बदल दिया,
अब तो वो,
हमारी बात होते ही,
बात बदल देते हैं,
हमें देखते ही …………………..
परेशानियों में भी,
था मजा,
उसके साथ होने से,
अब तो वो अपना,
साथ ही बदल लेते हैं,
हमें देखते ही …………………..

1,935 comments